Hindi Practice Question and Answer

Q:

'ढाक के वही तीन पात' लोकोक्ति का भावार्थ है-

504 0

  • 1
    परिणाम कुछ नहीं, बात वहीं की वहीं।
    Correct
    Wrong
  • 2
    ढाक के पत्ते तीन-तीन के समूह में होते हैं।
    Correct
    Wrong
  • 3
    पतझड़ में भी ढाक के कुछ पत्ते बचे रहते हैं।
    Correct
    Wrong
  • 4
    ढाक के उपयोगी पत्तों से सुन्दर दोने बनते हैं।
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 1. "परिणाम कुछ नहीं, बात वहीं की वहीं।"

Q:

ढाक के तीन पात लोकोक्ति का सही अर्थ है—

842 0

  • 1
    सदैव एक —सी स्थिति रहना
    Correct
    Wrong
  • 2
    स्थिति का बदलते रहना
    Correct
    Wrong
  • 3
    बिना मेहनत के लाभ मिलना
    Correct
    Wrong
  • 4
    इच्छा पूरी होना
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 1. "सदैव एक —सी स्थिति रहना"
Explanation :

1. 'ढाक के वही तीन पात' लोकोक्ति का अर्थ है- "सदा एक सी स्थिति बने रहना"।

Q:

'अक्ल पर पत्थर पड़ना' मुहावरे का अर्थ है-

456 0

  • 1
    प्रतिभावान होना
    Correct
    Wrong
  • 2
    बुद्धिमान होना
    Correct
    Wrong
  • 3
    बुद्धिभ्रष्ट होना
    Correct
    Wrong
  • 4
    मूर्ख होना
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 3. "बुद्धिभ्रष्ट होना"
Explanation :

1. 'अक्ल पर पत्थर पड़ना' मुहावरे का अर्थ है- "बुद्धि नष्ट होना"।

2. इस मुहावरे में "पत्थर" का प्रयोग एक नकारात्मक अर्थ में किया गया है। पत्थर एक कठोर वस्तु है, जो किसी चीज़ को तोड़ सकती है। इसी प्रकार, "अक्ल पर पत्थर पड़ना" का अर्थ है कि किसी व्यक्ति की बुद्धि नष्ट हो गई है, वह समझदार नहीं रहा।

Q:

'मांग अधिक आपूर्ति कम' आशय के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है -

554 0

  • 1
    एक अनार सौ बीमार
    Correct
    Wrong
  • 2
    ऊंट के मुँह में जीरा
    Correct
    Wrong
  • 3
    एक पंथ दो काज
    Correct
    Wrong
  • 4
    ऊँची दुकान फीके पकवान
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 1. "एक अनार सौ बीमार "
Explanation :

1. 'मांग अधिक आपूर्ति कम' आशय के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है "एक अनार सौ बीमार"।

2. इस लोकोक्ति का अर्थ है कि किसी वस्तु की मांग बहुत अधिक है, लेकिन उसकी आपूर्ति बहुत कम है। इस स्थिति में, वस्तु की कीमत अधिक हो जाती है और लोगों को उसे प्राप्त करने में कठिनाई होती है।

Q:

किस विकल्प में सभी शब्द 'पृथ्वी' के पर्यायवाची हैं?

471 0

  • 1
    धरती, अवनि, ऋक्ष
    Correct
    Wrong
  • 2
    मही, विश्वंभरा, धरणी
    Correct
    Wrong
  • 3
    अचला, धरा, याज्ञसेनी
    Correct
    Wrong
  • 4
    क्षिति, वसुधा, मौलि
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 2. "मही, विश्वंभरा, धरणी"

Q:

'जो अपनी बात से टले नहीं' उसके लिए उपयुक्त शब्द होगा -

535 0

  • 1
    बातूनी
    Correct
    Wrong
  • 2
    अटल
    Correct
    Wrong
  • 3
    बड़बोला
    Correct
    Wrong
  • 4
    मौन
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 2. "अटल"
Explanation :

1. 'जो अपनी बात से टले नहीं' उसके लिए उपयुक्त शब्द है "अटल"। इस शब्द का अर्थ है "जो टले नहीं, जो दृढ़ हो, जो स्थिर हो"।

2. जो व्यक्ति अपनी बात से टले नहीं, वह दृढ़ निश्चयी और स्थिर होता है। वह अपनी बात पर अडिग रहता है, चाहे परिस्थितियाँ कुछ भी हों।

Q:

'स्थिति दयनीय होने पर भी घमंड न छोड़ना' के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है-

631 0

  • 1
    रस्सी जल गयी पर ऐंठन न गयी
    Correct
    Wrong
  • 2
    चोर की दाढ़ी में तिनका
    Correct
    Wrong
  • 3
    गरजै पर बरसे नहीं
    Correct
    Wrong
  • 4
    ऊँट के मुँह में जीरा
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 1. "रस्सी जल गयी पर ऐंठन न गयी"
Explanation :

'स्थिति दयनीय होने पर भी घमंड न छोड़ना' के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है "रस्सी जल गयी पर ऐंठन न गयी"।


Q:

किस विकल्प में सभी शब्द स्त्रीलिंग हैं? 

747 0

  • 1
    चमक, आहट
    Correct
    Wrong
  • 2
    बात, खेत
    Correct
    Wrong
  • 3
    चालचलन, मिठास
    Correct
    Wrong
  • 4
    भूख, नाच
    Correct
    Wrong
  • Show AnswerHide Answer
  • Workspace

Answer : 1. "चमक, आहट "
Explanation :

1. संज्ञा शब्द के जिस रूप से यह ज्ञात हो कि वह पुरुष जाति का है या स्त्री जाति का, उसे लिंग कहते हैं।

- पुल्लिंग – जो शब्द पुरुष जाति का बोध कराते हैं, वे पुल्लिंग कहलाते हैं; जैसे-  विद्वान मोती, कौआ, खरगोश, मंडल घोड़ा, हाथी, कुत्ता, आयुष पक्षी, चीता, पानी आदि।

- स्त्रीलिंग - जो शब्द स्त्रीलिंग जाति का बोध कराते हैं, वे स्त्रीलिंग कहलाते हैं; जैसे- चमक, आहट, वकालत, कवयित्री, लिपि, पढ़ाई, समझ,ममता, चील, जोंक, कोयल, विदुषी, तृष्णा, बेटी, पुत्री, शिक्षिका, गाय, मोरनी, माता, लड़की, भेद, गाय, भैंस, बकरी, लोमड़ी, बंदरिया, मछली, बुढिया, शेरनी, नारी, रानी आदि।

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully

      Report Error

    Please Enter Message
    Error Reported Successfully