SSC CHSL सिलेबस - टियर 1, 2 और 3 परीक्षा

4 years ago 17.8K Views
ssc chsl syllabus 2019

SSC CHSL परीक्षा द्वारा लोअर डिवीजन क्लर्क, अपर डिवीजन क्लर्क, डाक असिस्टेंट और कोर्ट क्लर्क के पदों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती की जाती हैं, जिन पर हर वर्ष इच्छुक उम्मीदवार आवदेन करते हैं। हालांकि, अधिक प्रतिस्पर्धा और सीमित सीटों के कारण इस परीक्षा को क्रैक करना बहुत ही कठिन होता हैं। SSC CHSL परीक्षा की तैयारी से पहले CHSL का सिलेबस और एग्जाम पैटर्न का ज्ञान होना बेहद जरुरी होता हैं, क्योंकि यह आपको बताता हैं कि एसएससी प्रतियोगी परीक्षा कैसे और कितनें चरणों में आयोजित की जाती हैं।

इस पोस्ट में, SSC CHSL उम्मीदवार टीयर 1, टियर 2 और टियर 3 परीक्षा के विस्तृत और अपडेटेड SSC CHSL सिलेबस प्राप्त कर सकते हैं।

SSC CHSL सिलेबस (टियर 1,2,3)

SSC CHSL यानि कि कंबाइंड हायर सैकेंडरी लेवल वह परिक्षा हैं, जिसे वे 12वीं पास युवा दे सकते हैं जो सरकारी नौकरी की चाहत रखते हैं। CHSL परीक्षा मे वस्तुनिस्ठ(ऑब्जेक्टिव) प्रश्न पूछे जाते हैं और सीजीएल को 3 मुख्य स्तर टियर 1 में उद्देश्य प्रकार(ऑनलाइन), टियर 2 में वर्णनात्मक प्रकार(ऑफलाइन) और टियर 3 में स्किल टेस्ट / टाइपिंग टेस्ट(ऑनलाइन) में विभाजित किया जाता हैं:- 

  • टियर 1 परीक्षा सिलेबस
  • टियर 2 परीक्षा सिलेबस
  • टियर 3 परीक्षा सिलेबस

(1) SSC CHSL टियर 1 परीक्षा सिलेबस

SSC CHSL टियर -1 में चार विषय जनरल इंटेलिजेंस, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, जनरल अवेयरनेस,इंग्लिश लैंग्वेज को शामिल करते हैं। SSC CHSL परीक्षा में हर विषय में 25 प्रश्न होते हैं,जिनके कुल 200 अंक आवंटित किये जाते हैं।

जनरल अवेयरनेस:

सामान्य ज्ञान विषय में विशेष रूप से वर्तमान घटनाओं,इतिहास, संस्कृति,खेल, भूगोल,अर्थव्यवस्था,सामान्य नीति-नियम,वैज्ञानिक अनुसंधान आदि से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं। सामान्य जागरुकता होना मुख्यत: किसी भी परीक्षा के लिए उच्चतम स्कोर माना जाता हैं।

क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड:

एसएससी सीएचएसएल परीक्षा के प्रथम चरण टियर-1 के अंतर्गत गणित विषय मे संख्या प्रणाली,बीजगणित,अनुपात,ब्याज,प्रतिशत, सरलीकरण,ज्यामिति,औसत इत्यादि जैसे प्रश्न पूछे जाते हैं।

जनरल इंटेलिजेंस(रीजनिंग):

इस परीक्षण का मुख्य उद्देश्य आवेदको की मानसिक क्षमता,सामान्य रक्त संबंध और तार्किक शक्ति की जांच करना होता हैं। इसमें मौखिक और गैर-मौखिक दोनो प्रकार के प्रश्न शामिल होते हैं।

Topic Name

Non-Verbal Reasoning

Coding-Decoding

Analogy

Classification

Figure Sires

Direction Test

Blood Relation

Coded Relationship

Mirror Image & Water Image

Logical Arrangement

Sitting Arrangement

Ranking Test

Paper cutting

Missing Number

Alpha/Numeric/symbol series

Venn-Diagram

Analogy

Puzzle Test

Calder & Clock

Coded Inequality

Embedded Figure

Input & output

Cube, Cuboid & Dice

Syllogism

Paper folding

Letter- Series & Number series

Mathematical Reasoning

Data sufficiency

Classification

Pair & Word Formation

Finding Day, Date & Time

Miscellaneous

Counting the figure

इंग्लिश लैंग्वेज:

अंग्रेजी भाषा का विषय एसएससी की सभी परीक्षाओं में एक कॉमन सब्जेक्ट है। इस विषय का उद्देश्य उम्मीदवार की बुनियादी समझ और अंग्रेजी भाषा की लेखन क्षमता की जांच करना होता हैं।

Topic Name

Spot The Error

Active/Passive Voice

Improvement of Sentences

Synonyms

Direct/ Indirect Narration

Fill in the Blanks

Antonyms

One-Word Substitution

Shuffling of Sentence Parts

Spellings/ Detecting Mis-Spelt Words

Shuffling of Sentences in Passages

Cloze Passage

Idioms & Phrases

Comprehension Passage.

(2) SSC CHSL टियर 2 परीक्षा सिलेबस

बता दें कि इसमे केवल वहीं उम्मीदवार टियर 2 में उपस्थित हो सकते हैं जिन्होने टियर 1 की परीक्षा को उत्तीर्ण किया हो। इस पेपर को आवेदक हिंदी या अंग्रेजी भाषा में अपनी सुविधानुसार दे सकते हैं।

  • SSC CHSL टियर- 2 एक वर्णात्मक रुप से विस्तृत पेपर होता हैं,जिसमे निंबंध लेखन/पत्र/आवेदन-पत्र/प्रीसिस लेखन शामिल होते हैं।
  • यह ऑफ़लाइन / पेन और पेपर मोड में आयोजित किया जाता हैं।
  • यह पेपर उम्मीदवारों के लेखन कौशल का आंकलन करने के लिए पेश किया गया है। 

Topics

Essay writing (200-250 words)

Letter writing / Application (150-200)

(3) SSC CHSL टियर 3 परीक्षा सिलेबस

SSC CHSL टियर 3 में केवल वही उम्मीदवार भाग ले सकते हैं, जिन्होनें कम्प्युटर आधारित परीक्षा(टियर 1) और वर्णनात्मक परीक्षा(टियर 2) मे कम से कम न्युमतम योग्यता अंक अर्जित किये हो। SSC CHSL टियर 3 में दो तरह के परीक्षण शामिल होगें –

  1. स्पीड टेस्ट
  2. टाइपिंग टेस्ट
  • SSC CHSL टियर-3 एक स्किल टेस्ट / टाइपिंग टेस्ट है।
  • अभ्यर्थियों के पास कंप्यूटर पर डाटा एंट्री स्पीड टेस्ट (DEST) 8,000 (आठ हजार) प्रति घंटे की कुंजी होनी चाहिए।
  • कम्प्युटर पर प्रति घंटे 8000 प्रमुख अवसादों की गति दिये गए मार्ग के अनुसार शब्दों/प्रमुख अवसादों की सही प्रविष्टि के आधार पर तय की जाती हैं।

निष्कर्ष:

निरंतर प्रयास ही सफलता की कुंजी होती हैं, SSC CHSL परीक्षा को क्रैक करने के लिए कड़ी मेहनत के साथ पाठ्यक्रम(सिलेबस) और परीक्षा पैटर्न की गहरी समझ होनी आवश्यक हैं। इस लेख में, हमने सभी महत्वपूर्ण विषयों और उप-विषयों के साथ एसएससी सीएचएसएल सिलेबस की विस्तृत जानकारी प्रदान की हैं। आप अपनी सुविधा और आसानी के अनुसार तैयारी के लिए अपनी रणनीति तैयार कर सकते हैं।

हमें उम्मीद हैं कि आपके लिए हमारा यह ब्लॉग मददगार साबित होगा। इसके अलावा, अधिक प्रश्नों के लिए, हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।

शुभकामनाएं!!

Choose from these tabs.