IBPS PO सिलेबस: आप सभी को जानना चाहिए!

4 years ago 6.5K Views
IBPS PO syllabus 2019

IBPS PO एग्जाम का आयोजन हर साल इंस्टिट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल यानी आईबीपीएस(IBPS) द्वारा किया जाता हैं। क्या आप भी IBPS PO परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो अन्य परीक्षाओं की तरह IBPS एग्जाम की तैयारी के लिए भी पहला कदम सिलेबस को जानना हैं। यहाँ इस पोस्ट में, हम IBPS PO के सिलेबस को आपकी परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए विस्तार से साझा कर रहे हैं।

बता दें कि आईबीपीएस पीओ एक हाई लेवल कॉम्पिटिशन एग्जाम हैं, जहां देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में से एक में सीट हासिल करने के लिए उम्मीदवारों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होती हैं। इस प्रतियोगी परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए, आपको पहले परीक्षा के सिलेबस को जानना होगा। 

IBPS PO परीक्षा - चयन प्रक्रिया

IBPS PO परीक्षा वर्ष की सबसे बड़ी बैंकिंग परीक्षा है। यह परीक्षा बैंकिंग क्षेत्र में कार्य करने के सपने देखने वाले युवाओं के लिए सुनहरा अवसर देती हैं, साथ ही आपको नौकरी की सुरक्षा और स्थिरता प्रदान कर सकती हैं। इसके अलावा अधिकतर छात्र असमंजस मे रहते हैं, IBPS PO परीक्षा के लिए क्या पढ़ें और क्या न पढ़ें? वैसे, अच्छी खबर यह है कि आपको इस परीक्षा में भाग लेने के लिए कोई विशेष योग्यता की आवश्यकता नही हैं यदि आप किसी भी विषय से स्नातक पास हैं तो IBPS PO प्रतियोगी परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आपको संपूर्ण IBPS PO परीक्षा पैटर्न की भी जांच करनी चाहिए।

IBPS PO परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है:-

  • प्रीलिमिनरी परीक्षा
  • मेंस परीक्षा 
  • साक्षात्कार

परीक्षा पैटर्न क्या हैं?

प्रीलिमिनरी परीक्षा परीक्षा का पहला चरण हैं, इस पेपर को क्लीयर करने वाले अभ्यर्थी IBPS PO मेंस के लिए उपस्थित होते हैं। प्रीलिम्स परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाती हैं। प्रीलिमिनरी परीक्षा में प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट सूची में नहीं जोड़ा जाता हैं। प्रीलिम्स परीक्षा में निम्नलिखित विषय शामिल हैं:-

  • अंग्रेजी भाषा
  • सोचने की क्षमता
  • संख्यात्मक क्षमता

प्रीलिम्स परीक्षाओं के बाद, चयनित उम्मीदवारों को मेन्स परीक्षा देनी होती है, जो कि वस्तुनिष्ठ और वर्णनात्मक परीक्षा होती है, जिसके अंक अंतिम मेरिट सूची में जोड़े जाते हैं। मेन्स परीक्षा में निम्नलिखित विषय होते हैं:-

  • अंग्रेजी भाषा
  • रीज़निंग एबिलिटी एंड कंप्यूटर अवेयरनेस
  • आंकड़ा निर्वचन
  • बैंकिंग और अर्थव्यवस्था जागरूकता
  • वर्णनात्मक अंग्रेजी

केवल मेंस परीक्षा को पास करने वाले परीक्षार्थियों को ही पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता हैं।

IBPS PO: परीक्षा का सिलेबस क्या हैं?

अब जब आप IBPS PO के परीक्षा पैटर्न से परीचित हो गए हैं, तो आइए, पीओ परीक्षा के IBPS PO पाठ्यक्रम को विस्तार से समझते हैं ताकि आप सुनियोजित ढ़ंग से तैयारी कर सकें। प्रीलिम्स और मेंस परीक्षा के मुख्य विषय निम्न प्रकार से हैं:

  • अंग्रेजी भाषा
  • सोचने की क्षमता
  • मात्रात्मक क्षमता, डेटा व्याख्या और विश्लेषण
  • कंप्यूटर जागरूकता
  • बैंकिंग और अर्थव्यवस्था जागरूकता
  • वर्णनात्मक अंग्रेजी

अंग्रेजी भाषा:

आईबीपीएस पीओ परीक्षा में यह सबसे कठिन खंड हैं। अंग्रजी भाषा विषय का उद्देश्य उम्मीदवार की बुनियादी समझ, हिंदी/अंग्रेजी भाषा के सही व्याकरण उपयोग,शब्दावली उपयोग और लेखन क्षमता की जांच करना होता हैं। इस खंड के पाठ्यक्रम में निम्नलिखित शामिल हैं:-

Topic

  • Reading Comprehension 
  • Error Correction 
  • Cloze Test 
  • Para Jumbles 
  • Fill in the Blanks 
  • Synonyms and Antonyms 
  • Word usage 
  • Phrase replacement 
  • Idioms and phrases 
  • Sentence correction 
  • Sentence replacement 
  • Essay Writing 
  • Précis Writing 

संख्यात्मक क्षमता और डेटा व्याख्या:

यह IBPS PO परीक्षा में सबसे अधिक समय लेने वाले वर्गों में से एक है। इस विषय में अच्छा स्कोर करने के लिए प्रश्नों को सटीकता के साथ हल करना होगा। इस खंड के पाठ्यक्रम में शामिल हैं:-

Topic

  • Data Interpretation (Histogram, Pie Charts, Bar- Graphs, etc.)
  • Simplification
  • Number Series
  • Quadratic Equations
  • Data Sufficiency
  • Mensuration and Trigonometry
  • Profit & Loss
  • Speed, Time & Distance
  • Percentage
  • Ratio & Proportion
  • Time & Work
  • Interest
  • Permutation & Combination
  • Probability
  • Mixtures & Allegations
  • Problems on Ages
  • Average
  • Number System
  • Linear Equations

सोचने की क्षमता:

रीज़निंग IBPS PO परीक्षा के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग हैं और यह प्रीलिम्स और मेन्स परीक्षा दोनों में शामिल होता हैं। यह खंड युवाओं से कठोर अभ्यास की मांग करता हैं क्योंकि आपको दिए गए समय सीमा के भीतर इस अनुभाग को पूरा करना होगा। इस खंड में अच्छा स्कोर करने के लिए सटीकता के साथ-साथ गति की आवश्यकता होती हैं। इस खंड के सिलेबल में निम्नलिखित शामिल हैं:-  

Topics

  • Seating Arrangement (Circular and Linear)
  • Puzzles (Linear, Mixed, etc.)
  • Blood Relations 
  • Coding and Decoding 
  • Order and Ranking 
  • Syllogism 
  • Analytical Reasoning 
  • Non-Verbal Reasoning 
  • Input-Output 
  • Calendar and Clock-Based Problems (Though these problems are not that common in bank exams)
  • Data Sufficiency 
  • Alphanumeric Series 
  • Tabulation

कम्प्युटर जागरुकता:

कंप्यूटर जागरूकता विषय को मेन्स परीक्षा में रीजनिंग सेक्शन के साथ मिलाया जाता है। आजकल, इस टॉपिक के प्रश्न न केवल प्रकृति में बुनियादी हैं, बल्कि इस खंड में जटिल अध्यायों के प्रश्न भी पूछे जाते हैं। यहां तक कि परीक्षा में इन दिनों गणना-आधारित समस्याएं भी पूछी जाती हैं। इस विषय में निम्नलिखित शामिल हैं:-

Topic

  • History of Computers 
  • Input and Output Devices of Computer 
  • Memory of Computer – Primary and Secondary Memory 
  • Computer Networking 
  • Database Management System 
  • Computer Software – System Software and Application Software 
  • Computer Hardware – Various Parts in The Computer 
  • Keyboard Shortcuts in Computers 
  • Computer Abbreviations 
  • Internet 
  • MS Office Package – MS Word, MS Excel, MS PowerPoint and MS Access 
  • Important Computer Terms (Fundamentals of Computers)
  • Operating System Of the Computers 
  • The Logic Gates Such As AND, OR, XOR Etc. and related Calculations Involving the Logic Gates 

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था:

इस खंड के सिलेबस में निम्नलिखित शामिल हैं:-

Topic

  • Current Affairs (Events of the national and international importance of the last six months)
  • General Knowledge (Static GK such as countries and currencies, capitals, temples and airports, international organizations etc.)
  • Banking Awareness (History of banking in India, the structure of banking in India, important milestones in banking in India, important banking terms etc.)

अंग्रेजी भाषा(वर्णनात्मक पेपर)

मेन्स परीक्षा में डिस्क्रिप्टिव पेपर उम्मीदवार की अंग्रेजी दक्षता की जांच करता हैं। और परीक्षा के इस भाग में टोटल 2 प्रश्न होते हैं, वहीं प्रत्येक प्रश्न 25 अंक का होता हैं। आपको निम्नलिखित टॉपिक्स को जानने की आवश्यकता है:-

  • पत्र लेखन 
  • निंबंध लेखन

निष्कर्ष:

IBPS PO सिलेबस ऐसा नहीं है कि आप सिलेबस को समाप्त नहीं कर पाएंगे। इस लघु लेख में, हमने IBPS प्रोबेशनरी ऑफिसर(PO) परीक्षा के विस्तृत सिलेबस को साझा किया हैं जिसमें पहला चरण प्रीलिमिनरी परीक्षा, दूसरा चरण मेंस परीक्षा और साक्षात्कार शामिल है। एक्ज़ामबुक टीम आपके प्रयासों में लगातार मदद करने के लिए नवीनतम अध्ययन सामग्री प्रदान करती हैं।

हमें उम्मीद हैं कि उपरोक्त विस्तृत IBPS PO पाठ्यक्रम आप सभी के लिए मददगार होगा। यदि आपको कोई संदेह है, तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में ही पूछ सकते हैं।

शुभकामनाएं!!

Choose from these tabs.