• टेस्ट सीरीज और प्रैक्टिस टेस्ट
  • समय साबित परीक्षा रणनीतियों
  • परीक्षा विश्लेषण और नकली परीक्षण
  • Hand-on वास्तविक समय परीक्षण अनुभव

हाल ही में जोड़े गए पोस्ट और देखें >>

नया

हमारे ब्लॉग प्राचीन इतिहास जीके प्रश्नोत्तरी उत्तर के साथ आपका स्वागत है! पुरातनता की गहराई का अन्वेषण करें और ऐतिहासिक घटनाओं, संस्कृतियों और सभ्यताओं के बारे में अपनी समझ का परीक्षण करें।

Last month 487 द्रश्य
नया

"अतीत को उजागर करना" में आपका स्वागत है, जहां हम प्राचीन सभ्यताओं, पौराणिक शासकों और हमारी दुनिया को आकार देने वाली स्मारकीय घटनाओं की गहराई में उतरते हैं।

Last month 502 द्रश्य
नया

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए इतिहास जीके क्विज में आपका स्वागत है! इतिहास सिर्फ एक विषय नहीं है; यह समय के माध्यम से हमारी सामूहिक यात्रा का एक आख्यान है। प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए ऐतिहासिक घटनाओं, आंकड़ों और उनके प्रभाव को समझना महत्वपूर्ण है।

2 months ago 581 द्रश्य

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हमारे इतिहास जीके प्रश्न ब्लॉग में आपका स्वागत है! मानव सभ्यता की समृद्ध टेपेस्ट्री में गहराई से उतरें और ऐतिहासिक सामान्य ज्ञान के हमारे क्यूरेटेड संग्रह के साथ अतीत के रहस्यों को उजागर करें। प्राचीन सभ्यताओं से लेकर आधुनिक क्रांतियों तक का विश्लेषण प्राप्त करें |

4 months ago 1.5K द्रश्य
नया

उत्तर के साथ भारतीय इतिहास प्रश्नोत्तरी ब्लॉग में आपका स्वागत है, जहां भारत के अतीत की समृद्ध टेपेस्ट्री प्रश्नों और उत्तरों की एक मनोरम श्रृंखला में सामने आती है। प्राचीन सभ्यताओं, मध्ययुगीन साम्राज्यों और स्वतंत्रता के संघर्ष के विविध क्षेत्रों की खोज करते हुए, सदियों की यात्रा पर निकलें।

4 months ago 889 द्रश्य

उत्तर सहित हमारे इतिहास सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी में आपका स्वागत है - समय के इतिहास के माध्यम से एक मनोरम यात्रा! अतीत की समृद्ध टेपेस्ट्री में उतरें, और उल्लेखनीय घटनाओं, प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों और सभ्यताओं को आकार देने वाले महत्वपूर्ण क्षणों का पता लगाएं।

5 months ago 1.2K द्रश्य

हमारे इतिहास के प्रश्नों के उत्तर ब्लॉग में आपका स्वागत है! यहां, हम अतीत के आकर्षक क्षेत्रों में उतरते हैं, महत्वपूर्ण घटनाओं, प्रभावशाली शख्सियतों और निर्णायक क्षणों की खोज करते हैं जिन्होंने दुनिया भर में सभ्यताओं और संस्कृतियों को आकार दिया है।

6 months ago 1.5K द्रश्य

भारतीय इतिहास जीके एमसीक्यू प्रश्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुविकल्पीय प्रश्नों का परिचय प्रदान करते हैं। भारतीय इतिहास का अध्ययन भारतीय सभ्यता और उसकी विविधता को समझने का एक माध्यम है। यह सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक है, जिनमें से कई ने विश्व इतिहास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

6 months ago 1.2K द्रश्य

सबसे लोकप्रिय पोस्ट

पॉपुलर
आधुनिक भारतीय इतिहास GK प्रश्न-उत्तर Rajesh Bhatia 2 months ago 800.9K द्रश्य
पॉपुलर
Ancient Indian History Objective Questions and Answers for Competitive Exams Rajesh Bhatia 2 months ago 433.1K द्रश्य
पॉपुलर
Indian History Questions for Competitive Exams Rajesh Bhatia Last month 226.8K द्रश्य
पॉपुलर
भारतीय इतिहास जीके प्रश्न और उत्तर Rajesh Bhatia 2 years ago 102.4K द्रश्य
पॉपुलर
Indian History Questions | Indian History GK Questions and Answers Rajesh Bhatia Last month 64.5K द्रश्य
पॉपुलर
शीर्ष 50 इतिहास जीके प्रश्न Rajesh Bhatia 4 months ago 19.7K द्रश्य
पॉपुलर
शीर्ष 100 भारतीय इतिहास जीके प्रश्न Rajesh Bhatia 2 months ago 15.4K द्रश्य
Important Indian History Questions Rajesh Bhatia 3 years ago 8.3K द्रश्य

सबसे लोकप्रिय पोस्ट

हाल ही में जोड़े गए प्रश्न

  • 1
    ऑस्ट्रेलिया
    Correct
    Wrong
  • 2
    मध्य एशिया
    Correct
    Wrong
  • 3
    दक्षिण-पूर्व एशिया
    Correct
    Wrong
  • 4
    पूर्वी यूरोप
    Correct
    Wrong
  • उत्तर देखेंउत्तर छिपाएं
  • Workspace

उत्तर : 3
दक्षिण-पूर्व एशिया

Explanation :

अव‍िनाश चंद्र दास और डा. संपूर्णानंद के अनुसार आर्यसप्‍त सैंधव प्रदेश यानी क‍ि भारतवर्ष के उत्‍तर-पश्चिमी भाग से आये थे। इसे आर्यों का आदिदेश कहा गया है। पंड‍ित गंगानाथ झा ने बताया क‍ि आर्य ब्रह्मर्षि देश यानी क‍ि वर्मा, थाईलैंड और म्‍यामांर से आए थे।

  • 1
    ईश्वर चंद्र विद्यासागर
    Correct
    Wrong
  • 2
    रवीन्द्र नाथ टैगोर
    Correct
    Wrong
  • 3
    राम मोहन राय
    Correct
    Wrong
  • 4
    देवेन्द्रनाथ टैगोर
    Correct
    Wrong
  • उत्तर देखेंउत्तर छिपाएं
  • Workspace

उत्तर : 1
ईश्वर चंद्र विद्यासागर

Explanation :

ईश्वर चंद्र विद्यासागर ने 'बरना परिचय' नामक पुस्तक लिखी है। यह पुस्तक 1855 में प्रकाशित हुई थी और यह बंगाली भाषा की पहली आधुनिक प्रवेशिका थी। इस पुस्तक ने बंगाली भाषा के प्रचार और प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

  • 1
    ऐहोल
    Correct
    Wrong
  • 2
    सांची
    Correct
    Wrong
  • 3
    एलीफेंटा
    Correct
    Wrong
  • 4
    एलोरा
    Correct
    Wrong
  • उत्तर देखेंउत्तर छिपाएं
  • Workspace

उत्तर : 1
ऐहोल

Explanation :

लाड खान मंदिर भारत के कर्नाटक के बागलकोट जिले के एक ऐतिहासिक स्थल प्राचीन शहर ऐहोल में स्थित एक प्रमुख प्राचीन हिंदू मंदिर है। माना जाता है कि लाड खान मंदिर 5वीं या 6 वीं शताब्दी ईस्वी के दौरान बनाया गया था, जो इसे ऐहोल में सबसे पुराने जीवित मंदिरों में से एक बनाता है, साथ ही लाड खान मंदिर एक उल्लेखनीय स्मारक है जो इस क्षेत्र की समृद्ध स्थापत्य विरासत को प्रदर्शित करता है।। इसका नाम एक मुस्लिम राजकुमार, लाड खान के नाम पर रखा गया है, जिनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने 17वीं शताब्दी के दौरान इस मंदिर को अपने निवास के रूप में इस्तेमाल किया था। मंदिर लाड खान के समय से पहले का है और मूल रूप से भगवान शिव को समर्पित था।

  • 1
    खारवेला का हाथीगुम्फा शिलालेख
    Correct
    Wrong
  • 2
    समुद्रगुप्त की इलाहबाद प्रशस्ति
    Correct
    Wrong
  • 3
    पुलकेशिन का ऐहोल शिलालेख
    Correct
    Wrong
  • 4
    रूद्रदामन का जूनागढ़ शिलालेख
    Correct
    Wrong
  • उत्तर देखेंउत्तर छिपाएं
  • Workspace

उत्तर : 4
रूद्रदामन का जूनागढ़ शिलालेख

Explanation :

1. पहली आठ पंक्तियाँ "सुदर्शन झील" नामक जलाशय के जीर्णोद्धार कार्य का एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड प्रस्तुत करती हैं, जिसे 4 वीं शताब्दी ईसा पूर्व में महान मौर्य शासक चंद्रगुप्त मौर्य ने बनाया था।

2. भारत में शक शासक का सबसे बड़ा नाम उनके सिक्कों से जाना जाता है, लेकिन इससे भी अधिक उनके जूनागढ़ शिलालेख में सेका वर्ष 72 में अर्थात् 150 ई।

  • 1
    गाय
    Correct
    Wrong
  • 2
    घोड़ा
    Correct
    Wrong
  • 3
    हाथी
    Correct
    Wrong
  • 4
    सिंह
    Correct
    Wrong
  • उत्तर देखेंउत्तर छिपाएं
  • Workspace

उत्तर : 1
गाय

Explanation :

व्याख्या: वैदिक काल में गाय को पवित्र और पूजनीय माना जाता था।

ज्यादा प्रश्न देखें

त्रुटि की रिपोर्ट करें

कृपया संदेश दर्ज करें
त्रुटि रिपोर्ट सफलतापूर्वक जमा हुई

त्रुटि की रिपोर्ट करें

कृपया संदेश दर्ज करें
त्रुटि रिपोर्ट सफलतापूर्वक जमा हुई

त्रुटि की रिपोर्ट करें

कृपया संदेश दर्ज करें
त्रुटि रिपोर्ट सफलतापूर्वक जमा हुई

त्रुटि की रिपोर्ट करें

कृपया संदेश दर्ज करें
त्रुटि रिपोर्ट सफलतापूर्वक जमा हुई

त्रुटि की रिपोर्ट करें

कृपया संदेश दर्ज करें
त्रुटि रिपोर्ट सफलतापूर्वक जमा हुई